शनिवार, 29 अगस्त 2015

मुल्क रिलायंस अदाणी का,हुकुम उनका और हुकूमत भी उनकी! नामालूम कि कब यादें सिरे से गुमशुदा हो जायें! कत्लेआम के लिए सियासत काफी है ,दोस्तों। रब को हत्यारा और हत्यारे को रब क्यों बनाते हो ? गुजरात में जो हो रहा है और बाकी देश में जो होने वाला है। धर्म और जाति के नाम जो फिर बंटवारा बेइंतहा है। पहचान के नर्क में जो मुल्क मुल्क दम तोड़ रहा है। रंगा सियार का रंग भी उतरने लगा है। पलाश विश्वास

मुल्क रिलायंस अदाणी का,हुकुम उनका और हुकूमत भी उनकी!

नामालूम कि कब यादें सिरे से गुमशुदा हो जायें!


कत्लेआम के लिए सियासत काफी है ,दोस्तों।

रब को हत्यारा और हत्यारे को रब क्यों बनाते हो ?


गुजरात में जो हो रहा है और बाकी देश में जो होने वाला है।

धर्म और जाति के नाम जो फिर बंटवारा बेइंतहा है।

पहचान के नर्क में जो मुल्क मुल्क दम तोड़ रहा है।


रंगा सियार का रंग भी उतरने लगा है।


पलाश विश्वास

Nainital khurpatal

Sadiq Raza's photo.



प्यारे नित्यानंद गायेन,

bahut hi jyada nalayak ho.itbna khoobsoorat likh sakte ho.tamaam chijo mein vakt barbad karte ho lekin likhye bahut kam ho.hum kharab likhte hain .firbhi khoob likhte hain kyunki tumhare hisse ka likhna bhi haota hai.kab mujhe rahat doge?bachpana chhodo bhi aur jang mein shamil ho jao.do kaudi ke Pr se baaj aao.tumhar kalam parmanu bam hai,use hi aajmao.hum jaise do kaudi ke logo eke liye vakt jaya naa karo.bahut sakht naaraj hun.yaar,thodi,humaari bhi pawah kiya karo.yaaede ab bhi aato hai.na jane ,kab yade gumshuda ho jaye.


अपने राजीव नयन दाज्यू जब फेसबुक पर रोमन में हिंदी लिखा देखते हैं तो बेहद गुस्से में आ जाते हैं और उनका सुर ताल बिगड़ जाता है।


मैंने ये बातें फेसबुक पर अपने भाई और होनहार वीरवान भाई नित्यानंद गायेन से नयन दाज्यू के गुस्से का जोखिम उठाकर लिख मारी है रोमन में। जैसे लिखा है,हूबहू वही साझा कर रहा हूं।


दरअसल तकनीक का कमाल है और उससे ज्यादा तकनीक पर जिनकी मोनोपाली है,उनका कमाल है कि कंप्यू बीच बीच में डेड हो जाता है।नये सिरे से रिफार्मेट कराना होता है।


अबकी दफा इंजीनियर शिवम चेता गये हैं कि साफ्टवेयर डाउनलोड न करना वरना बूढ़िया की जान चली जायेगी।


हिंदी टुल फेसबुक के लिए हराय गया।

तो दोबारा डाउनलोड करने की हिम्मत न हुई।

बूढ़िया की जान में है बूढ़े तोते की जान।


सोचा की इंसानियत हराय जा रही है।

सोचा कि मुल्क हराय जा रहा है।


सोचा कि मजहब हराय जा रहा है।

सोचा कि देहात हराय जा रहा है।


सोचा की बोलियां हराय जा रही हैं।

सोचा कि भूगोल हराय जा रहा है।


इतिहास हराय जा रहा है।

वजूद हराय जा रहा है।


मुल्क रिलायंस अदाणी का,हुकुम उनका और हुकूमत भी उनकी!

नामालूम कि कब यादें सिरे से गुमशुदा हो जायें!


समझ लीजिये कि कितनी खतरनाक बात होती है यह कि आपकी यादें गुमशुदा हों!अपना पराया याद न कर पा रहे हो और फिरभी आप जिंदा है!


हमारे मुल्क के नागरिकों का बस यही हाल है।


वे वोट देकर खुदा बने हुए है।


हत्यारे को रब बना दिया है।


कत्लेआम की फिजां को लोग बाजार समझ रहे हैं।


यादें मरहूम हैं और समझते ही नहीं है कि मुल्क बाजार बना है और लोगबाग थोक भाव से अपनी मौत का सामान खरीद रहे हैं।


यादें मरहूम हैं और समझते ही नहीं है कि मजहब मुकम्मल  बाजार बना है और बाजार में भगदड़ मची है और किसी को मालूम नहीं कि कौन मरा है और कौन नहीं मरा है।और किसी को मालूम नहीं कि कौन जख्मी है और कौन जख्मी नहीं है।होश नहीं है।मदहोश सभी।


मुझे अफसोस हैं उन काबिल दोस्तों और भाइयों के लिए,जिन्हें हमारे बूढ़ापे का ख्याल नहीं है और अपने निक्मेपन से हम पर बोझ लादे जा रहे हैं।


सबसे गुस्सा है होनहार वीरवान पांत पर जो बाजार में बाजार की लकीर के फकीर बने हुए हैं और मुल्क में बहती खून की नदियों को वे शराब की नदियां समझ रहे हैं।


महाभोज चल रहा है।

अंतिम संस्कार का वक्त हो चला है।


मौत सिरहाने खड़ी है।

वे सुगंधित कंडोम चुनने में लगे हैं।


मुल्क रिलायंस अदाणी का,हुकुम उनका और हुकूमत भी उनकी!

नामालूम कि कब यादें सिरे से गुमशुदा हो जायें!



ये तमाम चीजें बाजार में खरीदने की चीजें तो हैं नहीं कि दोबारा डाउनलोड कर लिया।


अपने सहकर्मी जयनारायण प्रसाद गुरुजी बहुत प्यारे जीव हैं।


असल पोस्तोबाज हैं।हर प्रेस कांप्रेंस,प्रोडक्ट लांचिंग में जाते हैं।

पोस्तो भी वसूलते हैं।फिर वही पोस्तो धर्मतल्ला के गरीब लोगों या अंकुरहाटी चेकपोस्ट पर बिलाय देते हैं।


हम साथियों को शाम को नाश्ता कराना और रात को मिठाई खिलाना,टाफियां बांटना उनका रोजनामचा है और हम उन कुंवारे के पीछे लगे रहकर अपनी बोरियत और भड़ास का इलाज करते हैं।


उन्हें गुस्सा आ जाये और फिर हमें वे गालियां बक दें या कोसना शुरु करें,रोज हमें इसका इंतजार रहता है।


वे होते हैं तो हम खूब बोलते हैं और वे नहीं होते तो समझो मातम वही सन्नाटा है।


रिपोर्टरओ नइखे।रिपोर्टर बेहतरीन हैं।

गंगासागर करीब तीस साल से बिना नागा जा रहे हैं।


परिवर्तन में धुँआधार रिपोर्टिंग की काबिलियत पर माननीय प्रभाष जोशी ने उन्हें रखा था।पर उनकी यह काबिलियत परखी नहीं गयी।

यूं समझिये छोटे मोटे अशोक सेक्सेरिया हैं।


कंप्यू के खिलाफ उनका जिहाद था और उन्हें आखिर जाते जाते हमने मना लिया कि पीसी से दोस्ती करें और जो न लिखा है,वह सबकुछ लिख दें।


क्योंकि हमें उनके हिस्से का भी लिखना होता है।


अभी अभी हमने उन्हें फेसबुक में दाखिल भी करा दिया है और फेसबुक पर मौजूद रहे हमेशा ,इस खातिर रोज नये नये माडल दिखाकर फ्लिपकर्ट बजरिये उन्हें लैटेस्ट मोबाइल भी खरीदवा दिया है।फेसबुक में उन्हें भिड़ा दिया है।


डिजिटल कैमरा है उनके पास।

फिल्म की समझ भी है।

जनसरोकारों से लबालब हैं।

गुस्सा भी बहुत है।

पीड़ा भी कम नहीं है।


डाइरेक्शन का कोर्स किया है।

फिरभी फिल्म कोई बनायी नहीं है।

उनकी फिल्म का इंतजार है।


अब जयनारायण भी पचपन पार हैं और गुरुजी तो हो गये हैं,कुमार भारत जैसे चुस्त फुर्तीले भी नहीं रहे अब।


हम उनसे बड़े हैं।मधुमेह मरीज हैं।फिरभी वे हमसे ज्यादा बूढ़े हो गये हैं और हमसे कहीं ज्यादा बीमार हैं।


हमारे यहां फाइनेंशियल एक्सप्रेस के अप्पण रायचौधरी रिटायर करने के साल भर अंदर ऊपर चल दिये और हमारे गुरु जी चलने की तैयारी कर रहे हैं।


वैसे अभी हमने किसी को अलविदा कहा नहीं है काम करते करते।

डर है कि चंद महीन काट देने से पहले वही न करना पड़े।


मुश्किल यह है कि होम्योपैय़ी में उनका पक्का यकीन है।डाक्टर बरसों से आपरेशन का अल्टीमेटम दे रहे हैं।


हम लोग मनुहार भी करते रहे हैं कि होम्यापैथी बहुत ठीक है लेकिन इमरजेंसी में आपरेशन करवा भी लेना चाहिए।


अब पानी सर के ऊपर है और आपरेशन करवाना ही होगा।फिलहाल वे मान गये हैं लेकिन हम बेहद घबड़ा रहे हैं।कि आखिर पिर मुकरन जाये आपरेशन से और फिर कुछ कम बेशी न हो जाये।


हाईस्कूल पार करते न करते,नैनीताल पहुंचते न पहुंचते ताक झांक से तोबा कर लिया।


क्योंकि नैनीताल में जिन लोगों से वास्ता पड़ा,उनने बेरहमी से सीखा दिया है को दुनिया में कोई रसगुल्ला हमारे लिए नहीं है।


पेशेवर पत्रकारिता का नतीजा मधुमेह है लेकिन हम मीठे से परहेज कर चुके थे मूछें आने से पहले ही और उनने हमें समझा दिया था कि जिंदगी अगर जहर है तो पीना पड़ेगा।

अगर जिंदगी एक लड़ाई है बेइंतहा तो जमकर लड़ना होगा।


हमें अफसोस है कि अब कही भी न घर में न बाहर कोई है,जो होनहार वीरवान पीढ़ी की पीठ पर कोड़े ऐसे दनादन मारें कि रीढ़ सीधी हो जाये और इस बाजार की दुनिया सौ जुगत लगाकर भी वह रीढ़ न तोड़ सके,न मोड़ सके।


रीढ़ का कारोबार वह सत्तर का दशक रहा है और अफसोस कि हम उसकी आखिरी पीढ़ी है और हमारे हाथ से बगावत की झंडी पकड़ने के लिए कोई ससुरा मान नहीं रहा है।


मुल्क रिलायंस अदाणी का,हुकुम उनका और हुकूमत भी उनकी!

नामालूम कि कब यादें सिरे से गुमशुदा हो जायें!


राजन बकवास किये जा रहे हैं।

राज उनका खत्म है और वे डाउ कैमिकल्स के वकील भी यकीनन नहीं हैं।


खुदै कह रहे हैं कि सुधार अंधेरे में तीरंदाजी है।

वे खुल्ला झूठ बोले हैं,दोस्तो।


यह तीरंदाजी नहीं है।

शब्दभेदी वाण भी नहीं है कोई यह राजा दशरथ का कि कोई अकेला श्रवण कुमार मारा जायेगा और भगवान राम का जनम हो जायेगा।


राज उनका खत्म है और वे डाउ कैमिकल्स के वकील भी यकीनन नहीं हैं।

कुदे कह रहे हैं कि सुधार अंधेरे में तीरंदाजी है।

वे खुल्ला झूठ बोले हैं,दोस्तो।


यह सरासर चांदमारी है और जो भी नागरिक है,मारा जायेगा।

जो नागरिक नहीं भी है वह भी मारा जा जायेगा।


कत्लेआम के लिए सियासत काफी है ,दोस्तों।

मजहब के मुहं पर लहू क्यों लगाते हो ?


कत्लेआम के लिए सियासत काफी है ,दोस्तों।

रब को हत्यारा और हत्यारे को रब क्यों बनाते हो ?


गुजारात में जो हो रहा है और बाकी देश में जो होने वाला है।

धर्म और जाति के नाम जो फिर बंटवारा बेइंतहा है।

पहचान के नर्क में जो मुल्क मर रहा है।


जो मर रही हैं तमाम यादें हमारी

कि हम जिंदा हैं भी और हम जिंदा नहीं भी है।


बाजार मजहब बना है।


कौन पराया,कौन अपना,होश कुछ भी बराबर नहीं है

और चांदमारी करने वाली फौजें भी हमीं तो,

हमीं तो हैं अपनों पर जो चांदमारी कर रहे हैं।


सिरे से गुमशुदा है यादें।

रसगुल्ला है और नहीं भी है रसगुल्ला।

मधुमेह महामारी है।


रसगुल्ला खा भी रहे हैं खूब

लेकिन जो खा रहे हैं

वह मीठा जरुर है

फिरभी जहर है।


हमें होश नहीं है कि

दुनिया बाजार है और

बाजार में मुहब्बत मना है।


बाजार मजहब बना है।

मुल्क भी मजहबी इनदिनों।


मुल्क रिलायंस अदाणी का,हुकुम उनका और हुकूमत भी उनकी!

नामालूम कि कब यादें सिरे से गुमशुदा हो जायें!


हम सिर्फ अपने साथियों,दोस्तों और भाइयों,बहनों का

इंतजार कर रहे हैं।


हम सिर्फ इंतजार कर रहे हैं उन मासूम दिलों का जो मुहब्बत में बेकरार हैं,

फिरभी जिन्हे इकरार नहीं है,नहीं है।


कभी किसी ने कहा है कि हंगामा खड़ा करना मकसद नहीं,हालात बदलने चाहिए।


न शायर हूं और न कवि,लेकक भी नहीं हूं।नौकरी करता हूं लेकिन पत्रकारिता में भी कोई तोप नहीं हूं।


हम हंगामा खड़ा करना भी नहीं चाहते हैं।

हम मुक्म्मल जंग लड़ना चाहते हैं।


हमारे पास न तलवारे हैं,न तोपें हैं हमारे पास।

नहमारी कोई फोज है और न मिसाइलें हैं हमारी।


फिरभी यकीन है कि इंसान जब जागेगा तो सवेरा है।

फिर यूं समझो कि सहर है,भागा अंधियारा है।

हमें उसी जागरण का इंतजार है।


बाकी हालात तो बदलेंगे ही,

हालात उनके बस में भी  नही है

जिनका तेज बत्ती वाला कारोबार।


रंगा सियार का रंग भी उतरने लगा है।


राजन का राजपाट गयो रे हवा हुई बैंकिंग रिलायंस राज में।

बाकी यह बाजार है।


जोड़ हिसाब गुणा भाग समीकरण सभै हराय गयो रे।

रंगा सियार का रंग भी उतरने लगा है।



कई ना बतावे कि सांढ़ों का कारोबार किसको हो।

कोई ना बतावै भालुओं का बंदर नाच किस किस की मुनाफावसूली के लिए।


कोई ना बतावै ससुरा कि महाजिन्न,बिररंची बाबा,टाइटेनिक महाराज जो आव ना देखे कि ताव भी ना देखे, धकाधक सेल्फी ठोंके फटास फटास और पूरा देश झोंक दियो बाजार मा,तो आखेर फायदा किसका और नुकसानवा किसका।


यादें गुम है दोस्तों।

न जाने हम कि अपना कौन,पराया कौन।


यादें गुम हैं और लोग गणित भी भुला गये इतिहास भूगोल के साथ साथ और किसीको नहीं मालूम कि रगों में उसका कोई खून नहीं, पानी है और खून उसका सड़कों पर बह रहा है और ससुरा समझै है कि खून किसी और का है।


मुल्क रिलायंस अदाणी का,हुकुम उनका और हुकूमत भी उनकी!

नामालूम कि कब यादें सिरे से गुमशुदा हो जायें!




बाकी हम का कहे दुखवा कासे कहें कि खबर है कि बांच लै खुदैः

अब इसे भारत सरकार की 'मेक इन इंडिया' परियोजना के लिए बड़ी उपलब्धि ही कहेंगे कि रूसी सरकार ने एक और परियोजना के लिए भारत को चुना है। रूस की सरकार ने अपनी इस नई परियोजना के भारत में अनिल अंबानी के नेतृत्‍व वाले रिलायंस समू‍ह की एक कंपनी को अपना साझेदार बनाया है। जानकारी है कि दोनों के बीच ये साझेदारी सेना और वायुसेना के लिए करीब 197 हेलीकॉप्‍टर बनाने के लिए हुई है। इस प्रोजेक्‍ट को लेकर कुल मिलाकर 6,000 करोड़ रुपये की परियोजना तैयार की गई है।


रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने गत वर्ष दिसंबर में भारतीय दौरे के समय मोदी के सामने यह प्रस्ताव रखा था। हेलीकॉप्टर देश में बनाने की सहमति होने पर 200 हेलीकॉप्टर बनाने का प्रस्ताव दिया गया। बाद में 400 और हेलीकॉप्टर बनाने का ठेका दिया जा सकता है। इसी के तहत रूस सरकार ने एक और परियोजना के लिए अनिल अंबानी के नेतृत्व वाले रिलायंस समूह की एक कंपनी को साझेदार के रूप में चुना है।


यह साझेदारी सेना और वायुसेना के लिए 197 हेलीकॉप्टर बनाने के 6,000 करोड़ रुपये की एक परियोजना को लेकर है। सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत यह सबसे बड़े समझौतों में से एक होगा। इसके तहत कामोव 226टी श्रेणी के 197 हेलीकॉप्टरों का देश में निर्माण किया जाएगा, जो 30 वर्षो से अहम क्षेत्रों में सेवा दे रहे चेतक और चीता हेलीकॉप्टर बेड़ों की जगह लेगा। इस बारे में पूछे जाने पर रिलायंस डिफेंस के प्रवक्ता ने कहा, "हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया और स्किल इंडिया में हिस्सा लेने के लिए प्रतिबद्ध हैं।"


रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में मई में रक्षा खरीद परिषद की हुई बैठक में प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई थी। सूत्रों ने बताया कि गहन वार्ता के बाद रूस की सरकार ने भारत सरकार से कहा है कि परियोजना का कार्यान्वयन एक भरतीय कंपनी के साथ बनाई गई एक संयुक्त उपक्रम कंपनी के जरिए होगा और इसके लिए रिलायंस हेलीकॉप्टर का चुनाव किया गया है।


इसमें प्रौद्योगिकी का हस्तांतरण भी शामिल है। इसी महीने के शुरू में रिलायंस समूह की कंपनी पिपावाव डिफेंस को रूस के ज्योज्दोच्का शिपयार्ड ने 24 ईकेएम-877 पनडुब्बियों का भारत में मरम्मत करने के लिए चुना था। यह ठेका 30 हजार करोड़ रुपये का हो सकता है। सूत्रों के मुताबिक, युनाइटेड शिपबिल्डिंग कंपनी ऑफ रूस ने पिपावाव का चुनाव तलवार श्रेणी के चार पोतों के निर्माण के लिए भी किया है।


अब तक का होगा सबसे बड़ा समझौता

सूत्रों से प्राप्‍त जानकारी पर गौर करें तो भारत सरकार के 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम के तहत ये अब तक का सबसे बड़ा समझौता साबित होगा। साथ ही ये भी बताया गया कि इसके तहत कामोव 226टी श्रेणी के 197 हेलीकॉप्टरों का निर्माण देश में ही किया जाएगा। बड़ी बात ये भी है कि ये अब 30 वर्षों से अहम क्षेत्रों में सेवा दे रहे चेतक और चीता हेलीकॉप्टर बेड़ों की जगह लेगा।


रिलायंस डिफेंस के प्रवक्‍ता का ये है कहना

इस बारे में रिलायंस डिफेंस के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मेक इन इंडिया' और 'स्किल इंडिया' सरीखे कार्यक्रमों में बेहद खुशी के साथ हिस्सा लेने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं। यहीं नहीं उन्‍होंने ये भी कहा कि देश की जरूरतें पूरी करने के लिए सैन्य और असैन्य हेलीकॉप्टरों का निर्माण इस प्रतिबद्धता का एक सबसे बड़ा और अहम हिस्सा है।


सूत्रों का ऐसा है कहना

सूत्रों से मिली जानकारी पर गौर करें तो सामने आया है कि परियोजना का कार्यान्वयन एक संयुक्त उपक्रम कंपनी की मदद से किया जाएगा। इसको लेकर रिलायंस डिफेंस की नवगठित हेलीकॉप्टर इकाई का चयन किया गया है। बताते चलें कि रिलायंस डिफेंस रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर की ही कंपनी है। वहीं अब कंपनी तेजी के साथ औद्योगिक लाइसेंस हासिल करने की प्रक्रिया में है।


रूस के राष्‍ट्रपति ने पीएम के सामने रखा था प्रस्‍ताव

याद दिला दें कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने गत वर्ष भारतीय दौरे के समय दिसंबर में मोदी के सामने इस तरह का प्रस्ताव रखा था। उसके बाद रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में मई के महीने में रक्षा खरीद परिषद की बैठक में इस प्रस्ताव को पूरी तरह से मंजूरी दे दी गई थी। वैसे बता दें कि इसी महीने की शुरुआत में रिलायंस समूह की कंपनी पिपावाव डिफेंस को रूस के ज्योज्दोच्का शिपयार्ड ने 24 ईकेएम-877 पनडुब्बियों को भारत में मरम्मत करने के लिए चुना था।




--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!

शुक्रवार, 28 अगस्त 2015

महत्वपूर्ण खबरें और आलेख [DESHBANDHU | देशबन्धु ]

28, AUG, 2015, FRIDAY 10:34:55 PM

विदेश

खुद को असली साबित करने का डोनाल्ड ट्रंप का अनोखा कार्ड!

28, AUG, 2015, FRIDAY 06:36:44 PM

राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन दावेदारों में सबसे आगे चल रहे ट्रंप ने एक मतदाता को मंच पर बुलाया और कहा कि उसके बालों को छूकर दुनिया को बताए कि ये असली हैं। उन्होंने कहा नामांकन जीतने का उनका अभियान भी उनके बालों की तरह असली 

खेल

खेल रत्न बनना बड़े गौरव की बात- सानिया

28, AUG, 2015, FRIDAY 10:21:32 PM

नयी दिल्ली ! देश का सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न ग्रहण करने अमेरिका से दिल्ली पहुंच चुकी विश्व की नंबर एक युगल टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने शुक्रवार को यहां कहा कि उनके लिए इस सर्वोच्च पुरस्कार से सम्मानित होना 

प्रादेशिकी

उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सरकार सम्मानित कर रही है

28, AUG, 2015, FRIDAY 10:27:50 PM

लखनऊ ! उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि अपनी-अपनी विधाओं के माध्यम से समाज की विभिन्न परिस्थितियों को प्रस्तुत करने वाले साहित्यकारों, कलाकारों, संगीतकारों समेत विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को राज्य सरकार ..

अर्थजगत

सेंसेक्स में 161 अंकों की तेजी

28, AUG, 2015, FRIDAY 04:48:21 PM

मुंबई । देश के शेयर बाजारों में आज तेजी रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 161.19 अंकों की तेजी के साथ 26,392.38 पर और निफ्टी 53.00 अंकों की तेजी के साथ 8,001.95 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 311.65 

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!

महत्वपूर्ण खबरें और आलेख [hastakshep | हस्तक्षेप] औरंगज़ेब रोड क्यों सावरकर के नाम की सड़क कलाम के नाम पर क्यों नहीं ?

Current Feed Content

  • Oppression of women who defeated Naxalism continues, media remains silent

    Posted:Sat, 29 Aug 2015 00:10:43 +0000
    "…the struggle in India would continue so long as a handful of exploiters go on exploiting the labour of the common people for their own ends. It matters little whether these exploiters are purely...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • औरंगज़ेब रोड क्यों सावरकर के नाम की सड़क कलाम के नाम पर क्यों नहीं ?

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 14:38:33 +0000
    नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने औरंगज़ेब रोड का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम रोड कर दिया है। केजरीवाल ने ट्वीट किया, "मुबारक हो, एनडीएमसी ने औरंगज़ेब रोड का नाम बदलकर एपीजे अब्दुल कलाम...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • Sooraj Pancholi Confesses His Love For Alia Bhatt

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 12:41:43 +0000
    Sooraj Pancholi Confesses His Love For Alia Bhatt Sooraj Pancholi, who is making his acting debut with "Hero", says he wants to romance Alia Bhatt as he admires her a lot. The post...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • Tamasha Trailer | Ranbir's Official Announcement | Exclusive

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 12:17:33 +0000
    Tamasha Trailer | Ranbir's Official Announcement | Exclusive Ranbir Kapoor, who is waiting for the release of upcoming Tamasha, has denied the news that the makers of Tamasha are...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • अपनी बेबसियों का जरा भी अंदाजा नहीं है आपको

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 11:55:37 +0000
    अपनी बेबसियों का जरा भी अंदाजा नहीं है आपको। आपने लकीरें देख लीं, खाली हाथ नहीं देखे अभी। नागरिक हैं भी और नागरिक नहीं भी हैं आप यकीनन। राशनकार्ड, पैन, आधार, डीएनए प्रोफाइलिंग से लेकर जान माल पहचान...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • कब हो ही सोनहा बिहान

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 09:18:29 +0000
    जब भाई सूर्यकांत ने मुझसे कहा कि राज्य शासन के जनसम्पर्क विभाग ने रायपुर के टाउन हाल में एक छाया चित्र प्रदर्शनी 'सोनहा बिहान' आयोजित की है और स्वतंत्रता दिवस की संध्या मुख्यमंत्री इसका शुभारंभ...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • शैलेन्द्र के मन में मथुरा बसता था-दिनेश शंकर

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 09:03:43 +0000
    गीतकार शैलेन्द्र के बेटे दिनेश और बेटी अमला से अशोक बंसल की बातचीत १४ दिसंबर जिस दिन शैलेन्द्र की मृत्यु हुई उस दिन राजकपूर का जन्म दिन भी था गीतकार शैलेन्द्र के बेटे दिनेश शंकर मुंबई और पुत्री अमला...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • छिन गया निजता का अधिकार तो आपकी पीठ भी आपके खिलाफ गवाही दे सकती है….

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 07:17:32 +0000
    निजता का अधिकार संविधान में मौलिक अधिकार के रूप में परिभाषित है या नहीं, इस पर सुनवाई चल रही है। मेरी राय में यह सभी मौलिक अधिकारों से बढ़कर है। यह मेग्ना कार्टा, मानवाधिकार घोषणापत्र, संयुक्त राष्ट्र...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • आरक्षण समाप्त करने का नया जादू- गुजरात में नागपुर की प्रयोगशाला

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 07:07:19 +0000
    संघ की शह पर पिछड़ों व दलितों के आरक्षण को समाप्त करने के लिए नया प्रयोग शुरू हुआ है गुजरात में नागपुर की प्रयोगशाला है, उस प्रयोगशाला में पहले व्यापक पैमाने पर लूटपाट व नरसंहार किया गया था। अब उसी...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • नामवरजी का पुरुषोत्तम अग्रवाल की षष्ठिपूर्ति के कार्यक्रम में न जाना !

    Posted:Fri, 28 Aug 2015 06:52:32 +0000
    पुरुषोत्तम अग्रवाल जेएनयू से रिटायर हुए तो उस समय उनके विदाई समारोह में भी नामवरजी शामिल नहीं हुए नामवर सिंह के स्वभाव को जो लोग जानते हैं उनको पता है कि वे बात के पक्के हैं, यदि किसी कार्यक्रम के...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • Rajan lost Raj! Speaks for the hegemony, dupes India! Its people!

    Posted:Thu, 27 Aug 2015 18:35:30 +0000
    Rajan lost Raj! Speaks for the hegemony, dupes India! Its people! Great Walls falls apart as Free Market crashes and the Crash to continue for the survival of breaking Dollar Hegemony! I pity that...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • पटेल से ज़्यादा मुस्लिम समुदाय को आरक्षण की अधिक ज़रूरतः एसडीपीआई

    Posted:Thu, 27 Aug 2015 18:11:22 +0000
    नई दिल्ली। सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) ने हाल ही में पटेलों द्वारा अन्य पिछड़ा वर्ग के तहत आरक्षण की मांग को लेकर की गई हिंसा में मारे गए आधा दर्जन से ज़्यादा लोगों की मौत पर संवेदना...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • हार्दिक पटेल को केजरीवाल बनाकर रहेगा हमारा मीडिया !!!

    Posted:Thu, 27 Aug 2015 17:43:59 +0000
    हमारा मीडिया हार्दिक पटेल को केजरीवाल की राह पर ले जाने की पूरी कोशिश में है। आन्दोलन को हवा देने की भरपूर कोशिश हो रही है। पाटीदारो को आरक्षण मिलेगा या नहीं, यह मुद्दा गौण होकर ठण्डे बस्ते में चला...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • गांव की लाश पर विकास की इमारत

    Posted:Thu, 27 Aug 2015 17:32:44 +0000
    गांव इतिहास बन जाएंगे इस मंजर को बयां करने के लिए मुझे करीब 12 -13बरस पीछे जाना पड़ेगा, क्योंकि इतने सालों पहले जब मैं शहर से गाँव के बीच का सफर तय किया करता था तो खेतों में लहलहाती फसलों, खेतों में...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • सरकारी स्कूल और न्यायालय

    Posted:Thu, 27 Aug 2015 16:40:24 +0000
    सरकारी स्कूल और न्यायालय इलाहाबाद उच्च न्यायालय के एक निर्णय से देश के सरकारी स्कूलों की स्थिति पर चर्चा ने ज़ोर पकड़ लिया। न्यायालय ने सरकारी स्कूलों की स्थिति को सुधारने की दिशा में दिये अपने एक...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        
  • CPI(M) strongly condemned the Mamta Banerjee Government

    Posted:Thu, 27 Aug 2015 16:07:36 +0000
    New Delhi. The CPI(M) strongly condemned the Mamta Banerjee Government, for the unprovoked, brutal police lathi charges, tear gassing and use of water cannons against the massive demonstration of...

    पूरा आलेख पढने के लिए देखें एवं अपनी प्रतिक्रिया भी दें http://hastakshep.com/
        

--
Pl see my blogs;


Feel free -- and I request you -- to forward this newsletter to your lists and friends!